तकनीक से बदल रही है शिक्षा की दुनिया | How Technology Is Changing Education In Hindi?

आज हम तकनीक पर कितने निर्भर है, इसके बारे में बताने की आवश्यकता नहीं है। छोटे बच्चों से लेकर बड़े बुजुर्गों तक हर कोई इंटरनेट का उपयोग कर रहा है। 

इंटरनेट हमारी लाइफ का एक ऐसा अभिन्न अंग बन चुका है कि इसके बिना एक दिन भी गुजारना हफ्ते के बराबर लगता है। आज हम हर Sector में technology का उपयोग कर रहे है।

तकनीकी सहायता मिलने से हमारी life आसान हो रही है। हम घर बैठे ऑनलाइन शॉपिंग, खाना ऑर्डर, ऑफिस वर्क आसानी से कर लेते है। तकनीक के कारण आज शिक्षा की दुनिया में बड़ा बदलाव आया है। आज हम किसी के बारे में बात करेंगे...

तकनीक से बदला एजुकेशन वर्ल्ड (Use Of Technology In Education In Hindi)

How apps are changing the way of Education ?

शिक्षा मानव इतिहास से चली आ रही है। प्रारंभिक शिक्षा के तरीकों और आज की शिक्षा के तरीकों में बहुत बड़ा अंतर है।

मानव सभ्यता के विकास के साथ-साथ काम करने के तरीकों में बड़ा बदलाव आया है। आज हम पारंपरिक तरीकों को छोड़ आसान और मॉडर्न तरीके अपना रहे है। इसी में शिक्षा भी सम्मिलित है।

पहले शिक्षा सिर्फ गुरुआलयों यानि कि सिर्फ आश्रमों में मिलती थी। गुरु-शिष्य परंपरा चलती थी लेकिन धीरे-धीरे शिक्षा देने के तरीकों में बड़ा बदलाव आया है।

आज इंटरनेट मार्केट में हजारों ऐसे ऐप्स और वेबसाइट मौजूद है जो घर बैठे हमें सारी सुविधाएं प्रदान करते है। चाहे वह नर्सरी की समस्या हो यख स्कूली शिक्षा की या कॉलेज की, हमें हर समस्या का समाधान ऑनलाइन मिलता है। साथ ही हम घर बैठे Competitions की भी तैयारी कर सकते है।

तकनीक के बढ़ते विकास ने आज ब्लैक बोर्ड की जगह मोबाइल/लैपटॉप की स्क्रीन को ला दिया है। हम क्वालिटी एजुकेशन पाने के लिए तकनीक पर निर्भर हो रहे है।

आज कई संस्थानों में ब्लैक बोर्ड की जगह प्रोजेक्टर, स्मार्ट स्क्रीन इत्यादि का उपयोग किया जाता है। इस तरह देखा जाए तो शिक्षा में तकनीक का उपयोग क्रांंति की भांति है।

पहले विद्यार्थियों को हर जानकारी के लिए संस्थान जाना पड़ता था और अध्यापकों से बात करनी पड़ती थी। इससे उनका काफी समय खर्च होता था लेकिन ऐप्स ने इसे पूरी तरह बदल कर दिया है। आज ऐप्स ना सिर्फ शिक्षा का जरिया है बल्कि यह स्कूल और छात्रों के मध्य संचार का भी एक माध्यम है।

आइए जानते है Apps की मदद से Education World किस तरह बदल रहा है?

1. Creative Learning पर फोकस

इस समय इंटरनेट पर कई एजुकेशनल ऐप्स मौजूद है। ये एप्स Interactive होते है और Visual presentation से एजुकेशनल सामग्री को काफी रोचक बना देते है।

साथ ही इनमें कई टूल्स होते हैं जो स्टूडेंट्स को नई चीजें सिखाने में मददगार होते है।

2. Notification और Alert 

ऐप्स के जरिए छात्रों को संस्थानों की ओर से तुरंत नोटिफिकेशन और अलर्ट मिल जाते है।
जैसे कि नए बैच स्टार्ट हो रहा है, कोई मोटिवेशनल सेमिनार हैै, कोई विशेष Batch है, कोई Mock test/प्रायोगिक परीक्षा है या कोई ऑनलाइन परीक्षा सम्बधिन्त सूचना।

सारी सूचनाएं छात्रों को एप्स के जरिए मिल जाती है। छात्रों को किसी भी जानकारी के लिए campus विजिट नहीं करना पड़ता है। 

3. सीखने का नया तरीका

Education, New way of Learning

इस बात में कोई संदेह नहीं है कि एप्स शिक्षा का एक नया युग उदय कर रहे है। ऐप्स की सहायता से सीखना अधिक मजेदार और सहयोगात्मक हो गया है।

हम ऐप्स की मदद से किसी भी विषय विशेषज्ञ से आसानी से जुड़ सकते है और किसी भी समय अपनी समस्या का समाधान पा सकते है। इसे हम अपनी समस्याओं का त्वरित समाधान भी कह सकते है।

4. सशक्त संवाद

शिक्षण व्यवस्था को ऐप्स से मिलने वाला सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह इसे संचार का एक सशक्त माध्यम प्रदान करता है जिससे छात्रों, संस्थानों तथा शिक्षकों के बीच बेहतर Interaction पैदा होता है।

एक अच्छा मोबाइल ऐप शिक्षकों को सुविधा देता है कि वे सवालों का किसी भी समय जवाब दे सकें जिससे पारदर्शिता बने और विश्वास निर्मित हो।

5. Online सूचना स्रोत

छात्र मोबाइल ऐप्स से मॉक टेस्ट, मॉडल पेपर इत्यादि आसानी से access कर सकते है।

ऐप्स की मदद से छात्र सफर के दौरान भी अपडेट रहते है। इससे छात्रों को महत्वपूर्ण जानकारियां समय पर मिल जाती है।

कई संस्थान ऐप्स की मदद से खुद का Eco system विकसित कर रहे है जिससे उन्हें चीजों को मैनेज करने में आसानी होती है।

Conclusion

ऐप्स न केवल शिक्षा के क्षेत्र में कारगर साबित हो रहे है बल्कि हर सेक्टर जैसे कि बैंकिंग, चिकित्सा, खेल इत्यादि में काम करने के तरीक़े को बेहतर बना रहे है।

हमें अपनी स्टडी को तकनीक के साथ तालमेल बिठाकर चलाना चाहिए जिससे हम अपने आप को Improve कर सकें और अपने कार्य क्षेत्र में बेहतर कर सकें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ