Top 5 study tips in hindi | पढ़ाई करने के जबरदस्त टिप्स | 100% working tips

Dosto aaj ki is post me ham janenge kuch ese study tips in hindi ke bare me jo aapki self study ko improve karenge.

Study tips in hindi


बहुत से ऐसे विद्यार्थी है जो हमेशा स्कूल/कॉलेज जाते है लेकिन सेल्फ स्टडी अच्छे से नहीं कर पाते है जिस कारण वो अपने आप को आपको प्रेशराइज्ड महसूस करते है और ढंग से पढ़ाई नहीं कर पाते है। आज हम जानेंगे कि किस प्रकार सेल्फ स्टडी की जाए जो आपके लिए बहुत फायदेमंद हो।
Study tips, self study tips
Best study tips

सेल्फ स्टडी को इफेक्टिव बनाने के लिए मैं कुछ टिप्स दे रहा हूं, अगर आप इन्हें फॉलो करते है तो सेल्फ स्टडी बहुत अच्छे ढंग से कर पाएंगे।

Easily self study kaise kare?

1. Best time to study


सेल्फ स्टडी में सबसे पहले आता है "best time to do self study" । यह बात सही है कि हर विद्यार्थी के लिए एक ही टाइम सही नहीं होता है। बहुत से बच्चे स्कूल जाते है, बहुत से बच्चे कॉलेज जाते है, बहुत से बच्चे बच्चे competition की तैयारी करते है।
अतः यह आपको खुद तय करना पड़ेगा कि कौनसा टाइम स्टडी हेतु आपके लिए कंफर्टेबल है।
Self study time
Best time for self study

यह जरूरी नहीं कि आप हर बार morning में ही पढ़े या नाइट में ही पढ़े। जो आपको कंफर्टेबल लगे, उसी टाइम के अनुसार आप पढ़ते चले जाएं। आपको पढ़ने का समय ना देखते हुए इस बात पर ध्यान देना है कि आप कितने घंटे पढ़ पा रहे है।

आपको नींद आ रही है और आप किताब ले पढ़ रहे है, यह कोई अच्छी बात नहीं है। आपको अपने लिए इस प्रकार से टाइम टेबल सेट करना है कि आप उसमें सबसे ज्यादा कंफर्टेबल हो और अपने आप को पूरी तरह से उस समय पढ़ाई में लगा सको।

2. Make short note time table


यह बात मैं अपनी हर पोस्ट में बता चुका हूं कि आप एक टाइम टेबल अवश्य बना लें जिससे आपको अपनी पढ़ाई को इफेक्टिव बनाने में मदद मिलेगी। 

अगर आप एक विस्तृत टाइम टेबल ना बना पाते है तो मेरी सलाह आपको यह रहेगी कि आप एक छोटा-सा टाइम टेबल बना ले जो सिर्फ 1 दिन के लिए हो। इस टाइम टेबल को आप रात को सोते समय बना सकते है। इस टाइम टेबल को इस प्रकार बनाएं कि इसमें वो सभी विषय शामिल हो जाए जिसे आप कल दिन को पढ़ना चाहते है। अगर आप एक ऐसा छोटा-सा टाइम टेबल बनाते है तो आपके दिमाग को यह संकेत जाता है कि आपको कल यह काम करना है तो करना है। 

इस प्रकार के छोटे-छोटे टाइम टेबल बनाने से आपके दिमाग की प्रोडक्टिविटी बढ़ती है और दिमाग creative तरीके से काम करता है।

इस टाइम टेबल में आपको इस बात का ध्यान रखना है कि किस विषय को कितना समय देना है यानि कि किस विषय को कितनी देर तक पढ़ना है। यह आपकी क्षमता पर निर्भर करता है कि आप किसी विषय को कितनी देर तक पढ़ पाते है लेकिन यदि आप इस प्रकार के छोटे-छोटे टाइम टेबल बनाकर लगातार पढ़ते रहेंगे तो एक दिन ऐसा आएगा कि आप किसी भी विषय को जितना चाहे उतना पढ़ सकते है। आपको बिल्कुल भी बोरियत फील नहीं होगी।

3. Relaxe between study


बहुत से विद्यार्थी यह शिकायत करते हैं कि मैं लंबे समय तक नहीं पढ़ पाता हूं। इसके पीछे Reason यह है कि हमारे शरीर के साथ-साथ हमारे दिमाग को भी आराम की जरूरत होती है। यह सत्य है कि कोई भी व्यक्ति दिन-रात लगातार नहीं पढ़ सकता, उसे बीच में आराम करने की जरूरत होती है।

अगर आप भी लंबे समय तक नहीं पढ़ पाते है तो मैं आपको इसका एक फार्मूला बताता हूं जिसका अधिकतर सफल लोग इसका इस्तेमाल करते है। 

अगर आप लंबे समय तक पढ़ना चाहते है तो पढ़ाई के बीच आराम करना शुरू कर दीजिए यानि कि अगर आप 2 घंटे पढ़ रहे है तो आधा घंटा ब्रेक लें और फिर 2 घंटे पढ़े, फिर आधा घंटा आराम करें। इससे आप एक व्यवस्थित तरीके से स्टडी कर पाएंगे और आपके दिमाग को राहत मिलेगी और वो क्रिएटिव तरीके से काम कर पाएगा। 

अगर आप 2 घंटे भी लगातार नहीं पढ़ पाते हैं तो आप इस टाइम को छोटा कर सकते है यानि कि 50 मिनट पढ़ें और 10 मिनट रेस्ट करें। यह तरीका भी प्रभावी है।

4. Avoid distractions


Distraction यानी फोन टीवी इत्यादि ऐसी चीज है जो हमें हर वक्त आकर्षित करती रहती है। अपनी स्टडी को बेहतर बनाने के लिए आपको स्मार्टफोन, टीवी से दूरी बनानी होगी।

इनका ज्यादा इस्तेमाल उस धीमे जहर की तरह है जो बाद में असर दिखाता है यानि अगर आप सोच रहे है कि मैं फोन हाथ में लूंगा और उसे सिर्फ 10 मिनट इस्तेमाल करूंगा। ठीक है, लेकिन तभी आप फेसबुक, व्हाट्सएप, यूट्यूब के चक्कर में पड़ जाते है और 10 मिनट की जगह 20-30 मिनट लगा देते है। ऐसा अगर आपके साथ दिन में दो-तीन बार भी होता है तो आप अपना कीमती 2 घंटे का टाइम फोन में यूं ही लगा देते है।

अब आप सोच रहे होंगे कि Smartphone, tv के distraction से कैसे बचें? 

इनसे बचने का पहला उपाय यह है कि आपको सबसे पहले  self-control की आदत डालनी होगी यानी आपको खुद पर नियंत्रण रखना होगा कि कि मुझे 2 घंटे पढ़ना है तो पढ़ना है, चाहे कुछ भी हो जाए। मैं न तो फोन को हाथ लगाऊंग और न ही टीवी देखूंगा। इस प्रकार से आत्मविश्वास के साथ आपको self control की आदत डालनी होगी।

इसके अलावा आप चाहें तो स्टडी टाइम के दौरान फोन को silent mode या aeroplane mode में रख सकते है जिससे आप डिस्ट्रक्शन से बच सकें।

5. Read difficult subject first


यह भी एक महत्वपूर्ण तथ्य है कि आप सेल्फ स्टडी के दौरान हार्ड सब्जेक्ट को पहले पढ़ें। इसके पीछे कारण यह है कि जब आप पढ़ना शुरू करते है तो आप ज्यादा energetic होते है और difficult सब्जेक्ट को ज्यादा समय दे पाएंगे। यही वजह है कि सेल्फ स्टडी के दौरान हार्ड सब्जेक्ट को पहले पढ़ने की सलाह दी जाती है। आप उस सब्जेक्ट को बाद में भी आराम से पढ़ सकते है जिसमें आपका इंटरेस्ट है क्योंकि आप उसको पढ़ने के दौरान बोरियत फील नहीं करेंगे।

● क्लास को टॉप करने का तरीका।


Conclusion

दोस्तों हमने टिप्स तो जान ली कि सेल्फ स्टडी कैसे करें? लेकिन सिर्फ टिप्स जानने से क्या होगा आपको इन study tips in hindi के तथ्यों पर अमल करना होगा और इन्हें अपनी study लाइफ में establish करना होगा। इस पोस्ट का सार यही है कि आपका एक टारगेट यानि मोटो होना चाहिए कि मुझे सेल्फ स्टडी करनी है, मुझे कुछ करना है, मुझे अपने स्वयं के दम पर कुछ करके दिखाना है। अगर आप इस प्रकार आत्मविश्वास की बातों से भरे रहेंगे तो आपको सेल्फ स्टडी करने में बहुत सहायता होगी। इन study tips के जरिये आप Zero to Hero बन सकतेे है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ