Google AdSense क्या है और यह कैसे काम करता है?

What is google adsense in hindi? 
Google Adsense एक Ad Network है जिसे Google द्वारा चलाया जाता है।

Google द्वारा provide करायी जाने वाली services में से एक Adsense है। यह website owners को अपने content से ऑनलाइन पैसा कमाने का एक माध्यम प्रदान करता है।

आप जब भी गूगल पर कुछ सर्च करते हो या यूट्यूब पर वीडियोस देखते हो तो आपको advertisement देखने को मिलते होंगे। इन एडवर्टाइजमेंट (ads) को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर serve करने का काम गूगल ऐडसेंस करता है। हालांकि कई सारे और भी ऐसे एड नेटवर्क है जो यह काम करते हैं लेकिन उन सब में से गूगल ऐडसेंस सबसे ज्यादा लोकप्रिय और बेहतर है।

Website या ब्लॉग को monetize कर गूगल एडसेंस से पैसा कमाया जा सकता है।

आइये विस्तृत रूप से जानते है गूगल एडसेंस के बारे में।

Google AdSense kya hai in hindi


Google Adsense kya hai, adsense in hindi, गूगल एडसेंस

AdSense गूगल का एक प्रॉडक्ट/नेटवर्क/कैम्पेन है। इसे June, 2003 में रिलीज किया गया था। यह एक online advertising प्लेटफॉर्म है।

Adsense ब्लॉग/वेबसाइट पर text, image, video etc. फॉर्मेट में ads दिखाता है। शुरुआत में Ad codes को वेबसाइट/ब्लॉग में implement करना पड़ता है, इसके बाद सारा काम automatically होता है।

Google AdSense एकदम फ्री प्रोग्राम है। यह किसी भी वेबसाइट से विज्ञापन दिखाने के लिए पैसे नहीं लेता है। आपको ऐडसेंस के विज्ञापन अपनी साइट पर दिखाने के लिए ऐडसेंस की terms and conditions का पालन करना जरूरी है। साथ ही आपकी वेबसाइट पर उपलब्ध कंटेंट किसी का कॉपी किया हुआ नहीं होना चाहिए।

Adsense account के approve होने के बाद आप अपनी वेबसाइट/ब्लॉग के लिए ad size or ad format खुद setup कर सकते है और अपनी इच्छानुसार ad placement कर सकते है।

जब आपकी Adsense में $100 earning हो जाती है तो इसे आप wire transfer के जरिये सीधे अपने बैंक अकाउंट में ले सकते है।

गूगल ऐडसेंस ऑनलाइन अर्निंग (Online earning) करने का सबसे पॉपुलर तरीका है और अधिकतर क्रिएटर्स (creators) इसी का उपयोग करते है।

जितने भी लोग ब्लॉगिंग (blogging) करते हैं या यूट्यूब चैनल चलाते हैं, उनकी earning का मुख्य स्रोत ऐडसेंस ही है।

अगर आप ऐडसेंस से अच्छी कमाई करना चाहते हैं तो आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर विजिटर्स यानि ट्रैफिक का होना जरूरी है।
बिना ट्रैफिक के वेबसाइट या ब्लॉग पर ads लगाने का कोई फायदा नहीं है।

Google AdSense कैसे काम करता है?

गूगल ऐडसेंस क्या है, इसके बारे में तो जान लिया। अब जानते हैं कि गूगल ऐडसेंस कैसे काम करता है।

गूगल एडसेंस के विज्ञापन के तरीके को हम दो भागों में बांट सकते है। पहला है Advertisers और दूसरा Publishers .

Advertisers - जिन कम्पनियों, ब्रांड्स या अन्यों के advertisement हमें दिखाई देते है/ जिनका ads हमें दिखता है, Advertisers कहलाते है।

Publishers - जो अपनी वेबसाइट या ब्लॉग में ads डालते है यानि advertisers के ads को अपनी site पर दिखाने वाले Publishers कहलाते है।

आइये एक उदाहरण से समझते है...👉 मान लीजिए किसी वेबसाइट या ब्लॉग पर नेटफ्लिक्स (Netflix) का ऐड दिख रहा है तो यहाँ Netflix एडवरटाइजर (Advertiser) है और जिस साइट या ब्लॉग पर यह advertisement दिख रहा है, वो पब्लिशर है।

गूगल एडसेंस को आसान शब्दों में समझें तो बात यह है कि अगर आप किसी कंपनी के एडवर्टाइजमेंट (Ads) को अपनी वेबसाइट पर लगाना चाहते हो तो आपको उस कंपनी से सीधी (direct) बात करनी होगी और यह काम hard-working होने के साथ-साथ मुश्किल भी है क्योंकि ऐसा करके आप कितनी कंपनियों के साथ contact करेंगे।

Similarly यही बात उन कम्पनियों या ब्रांंड्स पर लागू होती है जो अपने प्रोडक्ट्स का प्रमोशन तथा डिजिटल वर्ल्ड में beneficial marketing करना चाहती है। Companies को ऐसे प्लेटफार्म की आवश्यकता होती है जो सही तरीके से उनके विज्ञापनों को वितरित कर सकें। इसके समाधान के लिए गूगल ने एक program लॉन्च किया Google AdWords . यह गूगल ऐडसेंस के साथ मिलकर काम करता है।

Google AdWords के जरिए जो भी कंपनी या ब्रांड अपने प्रोडक्ट के प्रमोशन तथा मार्केटिंग के लिए विज्ञापन करना चाहती है, वो कंपनी एडवर्ड्स (AdWords) पर अपने Ads Submit कर सकती है। Google AdWords उन ads को एडसेंस के जरिये serve करता है।

हम अपने मोबाइल या डेस्कटॉप में जो भी विज्ञापन देखते हैं, वो हमारे usage, searching, browser history, intrest के आधार पर show होते है।

आपने एक बात जरूर नोटिस की होगी कि जब भी हम कोई शॉपिंग साइट्स जैसे कि Amazon etc. पर visit करते है और बाद में कोई दूसरी application ओपन करते है जैसे कि कोई News/E-Paper app जो Google Adsense उपयोग करती है तो आपको वहाँ पर Shopping related ads दिखेंगे। इसे intrest based advertising कहा जाता है।

इसके अलावा गूगल ऐडसेंस और भी कई तरीकों से ads दिखाता है। उनमें से एक तरीका है keywords based ads का। Keywords यानि जो शब्द (words) जिन्हें लिखकर गूगल पर सर्च किया जाता है।

जब आप browser में कोई keyword टाइप कर search करके कोई वेबसाइट/ब्लॉग ओपन करते हो तो Googlebots उन keywords को detect कर इनसे रिलेटेड ads को दिखाता है। इसके अलावा वेबसाइट या ब्लॉग जिस कैटेगरी का है उससे संबंधित advertisement दिखाए जाते हैं। जैसे कि फैशन कैटेगरी के ब्लॉग पर फैशन सम्बंधित विज्ञापन दिखाये जायेंगे।

अब आपके मन में यह सवाल जरूर पैदा हुआ होगा कि गूगल को इससे क्या फायदा है?... तो आइए इसके बारे में थोड़ा कुछ जान लेते हैं।

जो भी एडवरटाइजर अपने एड्स दिखाने के लिए गूगल एडवर्ड्स के जरिए गूगल को जो पैसा देता है, उसका अधिकतर भाग वेबमास्टर्स/ब्लॉगर्स/वेबसाइट owners को दे दिया जाता है और कुछ भाग गूगल खुद रख लेता है। गूगल को विज्ञापन दाताओं से यही फायदा है और यह गूगल के Earning का एक मुख्य सोर्स है।


Also read ^^
● Blogging क्या है ? पूरी जानकारी।।
● Next level blogging कैसे करें?


Conclusion

Google Adsense गूगल की एक advertising service है। अगर आप कोई वेबसाइट या ब्लॉग चलाते हैं तो गूगल ऐडसेंस का उपयोग कर आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट से earning कर सकते हैं। Youtube channel द्वारा भी adsense से पैसा कमाया जा सकता है।

उम्मीद है दोस्तों आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी जिसमें हमने जाना कि गूगल ऐडसेंस क्या है और कैसे काम करता है? अगर इससे संबंधित आपके मन में कोई प्रश्न है तो कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ